रणनीति/विकिमीडिया आंदोलन/२०१७/तीसरा चक्र

From Meta, a Wikimedia project coordination wiki
Jump to navigation Jump to search
This page is a translated version of the page Strategy/Wikimedia movement/2017/Cycle 3 and the translation is 98% complete.

Other languages:
Bahasa Indonesia • ‎British English • ‎Deutsch • ‎English • ‎Nederlands • ‎Tiếng Việt • ‎Türkçe • ‎asturianu • ‎dansk • ‎eesti • ‎español • ‎euskara • ‎français • ‎italiano • ‎magyar • ‎polski • ‎português • ‎português do Brasil • ‎suomi • ‎български • ‎русский • ‎українська • ‎עברית • ‎العربية • ‎हिन्दी • ‎বাংলা • ‎ไทย • ‎中文 • ‎日本語 • ‎한국어
संशोधित तिथियाँ
पहला चक्र (उत्पादन) समझना दूसरा चक्र (बहस) अंतिम समझ बनाना तीसरा चक्र (नई आवाजों की सामग्री के साथ जुड़ें; ड्राफ्टिंग समूह रणनीतिक दिशा का ड्राफ्ट तैयार करेगा) साझा करें और अंतिम रूप दें समर्थन दूसरा चरण
१४ मार्च - १८ अप्रैल १८ अप्रैल - ५ मई ११ मई - १२ जून १२ जून - ३० जून जुलाई अगस्त सितंबर सितंबर २०१७ - २०१८


Discuss the draft strategic direction


Contents

पाँचवां सप्ताह (विस्तार या संक्षिप्त करने के लिए क्लिक करें)
 

पाँचवें सप्ताह की चुनौती: विकिमीडिया हमारे वर्तमान और भविष्य के पाठकों की जरूरतों को कैसे पूरा करेगा, क्योंकि अगले १५ सालों में दुनिया की जनसंख्या में बड़े बदलाव आ रहे हैं?

पहली मुख्य अंतर्दृष्टि

जैसे दुनिया की आबादी प्रमुख बदलावों से गुजर रही है, विकिमीडिया आंदोलन के पास अधिक जगहों और अधिक लोगों में उपलब्ध ज्ञान को बेहतर बनाने में मदद करने का एक अवसर है। अगले १५ सालों में अफ्रीका के महाद्वीप में जनसंख्या में ४०% की वृद्धि, साथ ही इंटरनेट तक बेहतर पहुँच और बेहतर साक्षरता दर होने की उम्मीद है। उम्मीद है अगले ३५ वर्षों के अंदर-अंदर स्पेनिश दूसरी सबसे आम भाषा बन जाएगी। जैसे नई संस्कृतियाँ और भौगोलिक स्थितियाँ अधिक प्रभावशाली बन रही हैं, वर्तमान में मौजूद विकिमीडिया परियोजनाएं दुनिया की बहुत सारी आबादी के लिए कम प्रासंगिक हो सकती हैं।

ऊपर दी गई जानकारी आंदोलन रणनीति शोध पत्र, २०३० को ध्यान में रखते हुए: जनसांख्यिकीय बदलाव - २०३० तक विकीमीडिया की पहुँच कैसे बढ़ाई जा सकती है? पर आधारित है।

रिपोर्ट से निकली मुख्य बातें

  • वैश्विक जनसंख्या बदल रही है: २०३० तक, वैश्विक जनसंख्या ८.४ अरब लोग (१५% वृद्धि) तक पहुँचने के अनुमान हैं। यूरोप की जनसंख्या में किसी बड़ी वृद्धि का अनुमान नहीं है, जबकि अमेरिका में केवल मध्यम वृद्धि होगी (१२८ मिलियन अधिक लोग), अफ्रीका को ४०% की वृद्धि की भविष्यवाणी है - कुल ४७० मिलियन अधिक लोग।[5 1]
  • आबादी बूढ़ी हो रही है: औसत आयु २९.६ से ३३ वर्ष की उम्र से बढ़ने की उम्मीद है। अफ्रीका सबसे कम औसत उम्र वाला क्षेत्र रहेगा (१९.६ साल की उम्र से २१.४ वर्ष की उम्र तक बढ़ रहा है)।[5 1]
  • विश्व में कर्मचारियों की संख्या बदल रही है: कर्मचारियों की संख्या में कमी होने की उम्मीद है, क्योंकि १५-६४ वर्ष की आबादी के प्रतिशत में कमी आएगी। कम प्रजनन क्षमता के कारण, यूरोप और उत्तरी अमेरिका के कर्मचारियों की जनसंख्या अनुपात में पर्याप्त कमी, लगभग ५-६%, होने के अनुमान लगाये जा रहे हैं। [5 2] संयुक्त राज्य अमेरिका में १५% की तुलना में वर्तमान में जापान की आबादी का २५% ६५ साल से अधिक है।[5 3] इस मुद्दे से निपटने के लिए, जापान ने कार्य करने की उम्र ६५ वर्ष से अधिक कर दी है। २०५० तक, ३२ अन्य देशों की २५% आबादी ६५ से ऊपर हो जाएगी, इसलिए वह भी इसी रास्ते पर चल सकते हैं।[5 4]
  • शिक्षा का स्तर बढ़ रहा है: शिक्षित लोगों की संख्या २०१५ और २०३० के बीच ८३% से बढ़कर ९०% हो जाएगी। अफ्रीका में ६२% (२०१५) से बढ़कर ८०% (२०३०) तक साक्षरता में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी होगी। एशिया ८३% (2015) से ९०% (2030) तक साक्षरता दर ७% तक बढ़ाएगी। यूरोप और उत्तरी अमेरिका में उच्च साक्षरता दर (९९-१००%) बरकरार रहेगी।[5 5]
  • २०५० तक, स्पेनिश चौथी से दूसरी सबसे आम भाषा बन जाएगी: शोधकर्ताओं की उम्मीद है कि दुनिया में सबसे आम भाषाएँ मंदारिन (#1), स्पैनिश (#2), अंग्रेजी (#3), हिन्दी (#4), और अरबी (#5) होंगी। अनुमान है कि २०५० अंग्रेजी दूसरी से तीसरी सबसे आम भाषा बन जाएगी।[5 6]

दूसरी मुख्य अंतर्दृष्टि

हालिया शोध के अनुसार, हमारे सात सक्रिय देशों में पाठकों को विकिपीडिया कैसे काम करता है, संरचित किया जाता है, वित्त पोषित होता है, और सामग्री कैसे बनती है, इसके बारे में बहुत कम जानकारी है। यह बात विशेष रूप से १३-१९ वर्ष के बच्चों के लिए सच है। शोध में यह भी पाया गया कि पाठक मुख्य रूप से उपयोगिता, पठनीयता और 'प्रत्येक व्यक्ति के लिए मुफ्त ज्ञान' को विकिपीडिया के सबसे महत्वपूर्ण गुण मानते हैं। हमारे पाठक विकिपीडिया को "तटस्थ, निष्पक्ष सामग्री" और "पारदर्शिता" रखने वाली वेबसाईट के तौर पर नहीं जानते हैं। इस से हमें पता चलता है कि यह ब्रांड जागरूकता और ब्रांड ज्ञान को बढ़ाने का अवसर है।

यह अंतर्दृष्टि हाल ही में किये गए ब्रांड जागरूकता, व्यवहार और उपयोग अनुसंधान अध्ययन पर आधारित है। यह सर्वेक्षण फ़्रांस, जर्मनी, जापान, रूस, स्पेन, यूके और यूएस में पीसी, लैपटॉप, या डिवाइस (टेबलेट, स्मार्टफोन) पर एक ऑनलाइन सर्वेक्षण के माध्यम से किया गया था।

अनुसंधान से प्रमुख अंश

जागरूकता
  • सात देशों में, विकिपीडिया का लोगो दिखाए जाना पर करीब ८०% इंटरनेट उपयोगकर्ताओं को विकिपीडिया के बारे में जागरूकता थी। स्पेन में सर्वाधिक जागरूकता है (८९%) और जापान में सबसे कम (६४%) है।
  • जब पूछा जाए कि "जब आप ऑनलाइन सूचना खोजना चाहते हैं तो वह तीन कौनसी वेबसाईटें हैं जिन पर आप जाते हैं," शीर्ष उत्तर गूगल है (औसतन ८५%), इसके बाद विकिपीडिया (४५%), यूट्यूब (४३%), याहू! (१९%) और फेसबुक (१७%)।
  • कुल मिलाकर, २०% को विकिपीडिया के बारे में पहली बार इंटरनेट से पता चला और २०% को स्कूल के माध्यम से पता चला। यद्यपि पीढ़ीगत तौर पर अंतर हैं: १३-१९ वर्षीय इंटरनेट उपयोगकर्ताओं में से 35% का कहना है कि उन्होंने इसके बारे में पहली बार स्कूल में सुना, जबकि ३६-४९ वर्षीय इंटरनेट उपयोगकर्ताओं में से ७३% कहते हैं कि उन्हें इसके बारे में ऑनलाइन ही पता चला।
रवैये
  • सभी सात देशों में, विकिपीडिया के बारे में जागरूक इंटरनेट उपयोगकर्ताओं विकिपीडिया को "प्रत्येक व्यक्ति के लिए निशुल्क ज्ञान" (१० में से ८.५) और "उपयोगी" (१० में से ८.३) के तौर पर जानते हैं। वह विकिपीडिया को "तटस्थ, निष्पक्ष सामग्री" (७.०) और "पारदर्शिता" (६.९) के लिए बहुत ज्यादा नहीं जानते हैं। इनमें बड़े पीढ़ीगत अंतर हैं, १३-१९ साल के बच्चों ने लगभग सभी विशेषताओं पर विकिपीडिया को कम अंक दिए हैं।
  • जब विकिपीडिया के बारे में जागरूक इंटरनेट उपयोगकर्ताओं से पुछा गया कि उन के लिए सबसे महत्वपूर्ण क्या है तो सर्वोच्च विशेषताएँ "उपयोगी," "प्रत्येक व्यक्ति के लिए मुफ्त ज्ञान" और "पढ़ने में आसान" हैं। सबसे कम महत्वपूर्ण "पारदर्शिता" और "विज्ञापन से मुक्त" हैं।
  • सभी पीढ़ियों में व्यापक सहमति है कि "अधिक विश्वसनीय सामग्री" (५७%), "उच्च गुणवत्ता वाली सामग्री" (५१%), "अधिक तटस्थ सामग्री" (४४%), और "अधिक दृश्य सामग्री" (४१%) से उनके व्यक्तिगत अनुभव में "बहुत" वृद्धि होगी।
प्रयोग
  • आनुपातिक रूप से, विकिपीडिया के सबसे अधिक दर्शक स्पेन में हैं, जहाँ इंटरनेट उपयोगकर्ताओं के ९१% लोग इसके बारे में जानते हैं और ८९% इसे पढ़ते हैं। जबकि सभी देशों में इंटरनेट उपयोगकर्ताओं को देखें तो, ८४.१% इसके बारे में जानकारी रखते हैं और ८१.१% इसे पढ़ते हैं।
  • देशों अनुसार, रूस में ७५% और स्पेन में ७३% विकिपीडिया पाठक विकिपीडिया को सप्ताह में एक या अधिक बार पढ़ते हैं। रूसी और स्पेनिश पाठकों में से २४ प्रतिशत इसे हर दिन पढ़ते हैं। सबसे कम साप्ताहिक पाठक जापान और ब्रिटेन (दोनों में पाठकों के ६०%) में हैं।
  • कुल मिलाकर, लगभग आधे विकिपीडिया पाठक "अक्सर" विकिपीडिया पर डेस्कटॉप या लैपटॉप, या स्मार्टफ़ोन से पहुंचते हैं। १३-३५ वर्ष की उम्र के पाठकों का कहना है कि वह अक्सर स्मार्टफोन से विकिपीडिया का उपयोग करते हैं, और १३-१९ वर्ष के पाठकों का कहना है कि वह अक्सर विकीपीडिया की जानकारी तक पहुँच सिरी या एलेक्सा के माध्यम से करते हैं (१३-१९ वर्ष वाले पाठकों में से २१% और ३६-४९ वर्ष के पाठकों में से १०%)।

अधिक जानकारी के लिए, कृपया पूरा प्रारंभिक कार्यकारी सारांश पढ़ें।

समाधान का सुझाव दें

कृपया इस चुनौती को हल करने के बारे में चर्चा करें।

  1. मेटा-विकि पर: कृपया वार्ता पृष्ठ पर चर्चा करें

नोट: समुदाय प्रतिक्रिया ड्राफ्टिंग टीम के साथ साझा किया जाएगा। हम इन चुनौतियों का सामना करते और उनको सुलझाने के लिए में भविष्य के विचारों के लिए उनका उपयोग भी किया जाएगा।

संदर्भ

  1. a b "World Urbanization Prospects: The 2014 Revision". United Nations, Department of Economic and Social Affairs, Population Division. Accessed 2017-06-15
  2. Lee, Ronald, and Andrew Mason. “The Price of Maturity: Aging Populations Mean Countries Have to Find New Ways to Support Their Elderly.” Finance & Development 48.2 (2011): Pages 6–11.
  3. Schlesinger, Jacob M.; Martin, Alexander. "Graying Japan Tries to Embrace the Golden Years". Wall Street Journal. November 29, 2015. Accessed 2017-06-15.
  4. Rodionova, Zlata. "Japan’s Elderly Keep Working Well Past Retirement Age". The Independent. Retrieved 2017-06-15
  5. Country Profiles”. International Futures, Pardee Center. Accessed June 25, 2017.
  6. Graddol, David. “The Future of English: A guide to forecasting the popularity of the English language in the 21st century”. Accessed June 24, 2017
चौथा सप्ताह (विस्तार या संक्षिप्त करने के लिए क्लिक करें)
=

चौथी चुनौती: विकिमीडिया दुनिया में ज्ञान के निर्माण, प्रस्तुति और वितरण में संभव रूप से आने वाले परिवर्तनों में अधिक से अधिक उपयोगी कैसे साबित होता रहेगा?

मुख्य अंतर्दृष्टि

रुझान दर्शाते हैं कि सभी क्षेत्रों के लिए परिवर्तन आ रहे हैं - उभरते क्षेत्रों और मोबाइल इंटरनेट से संतृप्त क्षेत्रों दोनों में।

  • अभी अभी ऑन्लाइन आ रहे क्षेत्रों के लिए, स्थानीय, मोबाइल सामग्री विकसित करना एक मजबूत अवसर है।
  • विश्व स्तर पर, उत्पादों को "सरल" वेबसाइटों से अलग-अलग डिवाइस अनुभव (डेस्कटॉप, मोबाइल) के साथ और भी अधिक परिष्कृत एकीकृत प्लेटफार्मों पर विकसित करना जारी रहेगा, जिनमें कृत्रिम बुद्धि, संवर्धित वास्तविकता और आभासी वास्तविकता जैसी तकनीकों को शामिल किया जाएगा।

यह रुझान बदलेंगे कि लोग ज्ञान कैसे बनाते हैं और कैसा इसका इस्तेमाल करते हैं।

उपरोक्त अंतर्दृष्टि इस आंदोलन रणनीति शोध पत्र पर आधारित है, 2030 को ध्यान में रखते हुए: भविष्य की तकनीक के रुझान जो कि विकिमीडिया आंदोलन को प्रभावित करेंगे

उभरते हुए प्लेटफार्मों पर शोध का अनुमान है कि प्लेटफॉर्म और डिवाइस नवाचार (मोबाइल और नई प्रौद्योगिकियां) इस बात को प्रभावित करेगा कि लोग कैसे जुड़ते, सीखते और अद्यतन रहते हैं। यह दुनिया के उभरते और विकसित क्षेत्रों में स्थानीय सामग्री के विकास से लेकर इस बात को भी प्रभावित करेगा कि कैसे प्रौद्योगिकी लोगों की बातचीत को नयी आकृति प्रदान करेगी, ज्ञान को रोज़मर्रा के जीवन में और अधिक एकीकृत कर देगी। भविष्य में इस बात पर भी प्रभाव पड़ेगा कि कौन-कौन या क्या सामग्री विकसित कर रहा है, भविष्यवाणियाँ हैं कि जो कि कृत्रिम बुद्धि (एआई) और व्यावसायिक उपक्रम वर्चुअल और संवर्धित वास्तविकता उपकरणों के लिए उपयुक्त अधिक मल्टीमीडिया कंटेंट विकसित करेंगे।

रुझान और आंदोलन के लिए अवसर

निकट अवधि - मोबाइल द्वारा पहुँच

जीएसएमए इंटेलिजेंस से ग्लोबल मोबाइल ट्रेंड्ज़ रिपोर्ट के अनुसार “इंटरनेट मोबाइल है, और मोबाइल इंटरनेट है,”।[4 1] “एक पूरी पीढ़ी के लिए, इंटरनेट अब मोबाइल के साथ और मोबाइल इंटरनेट के साथ जुड़ा हुआ है।”[4 2] शोधकर्ताओं का कहना है कि बहुत ज्यादा एशिया और उप-सहारा अफ्रीका में मोबाइल के माध्यम से वेब पर पहुँच 40 प्रतिशत के नीचे रहती है। जीएसएमए इंटेलिजेंस अनुमानों के अनुसार दुनिया के 7.3 अरब लोगों में, केवल 3.4 अरब मोबाइल इंटरनेट का उपयोग करते हैं। मोबाइल इंटरनेट अपनाने के लिए बाधाओं में से एक स्थानीय रूप से प्रासंगिक सामग्री की कमी है।[4 1] विकिमीडिया आंदोलन के लिए, शोधकर्ताओं का सुझाव है कि यह स्थानीय सामग्री योगदानकर्ताओं को शामिल होने में मदद करने का एक अवसर है। शोधकर्ताओं का यह भी सुझाव है कि विकिमीडिया को आसान मोबाइल समाधान विकसित करने का मौका है और संभावित रूप से नई साझेदारीयों का निर्माण किया जा सकता है जो ऑनलाइन आने वाले देशों में अपनी पहुँच बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।

उभरते प्लेटफार्म और प्रकार

मैरी मेक्र और एमी वैब द्वारा प्रौद्योगिकी नवाचार और उपयोग पर दो रिपोर्टों के अनुसार [4 3], अबसे २०३० तक चार प्रकार की सामग्री और प्लेटफार्म परिपक्व होंगे:

  1. कृत्रिम बुद्धि और आवाज चालित एप्लिकेशनों में उन्नति रियल-टाइम, व्यक्तिगत शिक्षा और सूचना सेवाओं को जन्म देगी जो कि लोगों के दैनिक जीवन का हिस्सा बन जाएँगी। इससे लोगों को पाठ-आधारित प्रणालियों की जगह पर आवाज-सक्रिय और आवाज-प्रतिक्रिया प्रणालियों का अधिक उपयोग करेंगे। नवाचार यह बदल सकता है कि ज्ञान किस तरह से इकट्ठा और संश्लेषित किया जा सकता है। भविष्य में, विकिमीडियन कृत्रिम बुद्धि और स्वचालित सिस्टम पर अधिक निर्भर हो सकते हैं, जो यह बदल सकता है कि वह अपना काम कैसे करते हैं और वह क्या करते हैं (कुछ के लिए यह नई सामग्री का योगदान करने के बजाय सत्यापन और तथ्य-जाँच हो सकता है)।
  2. आभासी वास्तविकता में संभावना है कि लोग ज्ञान के साथ कैसे बातचीत करते हैं, इसमें बड़ा परिवर्तन ला दे। इन असली जीवन जैसे अनुभवों में, पाठ पर आधारित ज्ञान को एकीकृत करना मुश्किल होगा। हालांकि, खुले स्रोत वाली इमर्सिव सामग्री मौजूदा या भविष्य की बहन परियोजनाओं के लिए एक अवसर हो सकती है, और इन उद्देश्यों के लिए संरचित डेटा आदर्श हो सकता है।
  3. संवर्धित वास्तविकता और अन्य पहनने योग्य डिवाइस दुनिया के उपयोगकर्ता के दृश्य के शीर्ष पर सामग्री की एक परत जोड़ते हैं। यह रुझान उपयोगकर्ताओं को तत्काल, प्रासंगिक विकीमीडिया सामग्री तक पहुंच प्रदान करती है और संभवतः शिक्षा, प्रशिक्षण और कई अन्य उद्योगों में क्रांतिकारी बदलाव ला सकता है।
  4. संचार के पुराने ऑफ़लाइन तरीके तब भी मौजूद हो सकते हैं और बढ़ सकते हैं, चूंकि ऑनलाइन गोपनीयता के बारे में चिंताएं हैं और हमेशा न जुड़े रहने की इच्छा है।

संभावित नकारात्मक परिणाम

समापन में, शोधकर्ताओं ने संभावित नकारात्मक परिणामों को साझा किया है:

  • जब कृत्रिम बुद्धि से सामग्री उत्पन्न होती है, तो यह उन स्रोतों पर आधारित नई सामग्री बना सकती है जिनमें मानव पूर्वाग्रह है, और इस तरह पूर्वाग्रह कायम रहेगा।
  • जैसे-जैसे लोग अपनी प्राथमिकताओं के अनुसार अधिक सामग्री खोजते और प्राप्त करते हैं, वह संभवतः भिन्न सामग्री तक पहुँचना बंद कर देंगे
  • हर पल उपलब्ध जानकारी के अधिभार से नई जानकारी को गंभीर रूप से प्रोसेस करने की क्षमता कम हो सकती है
  • डिजिटल डिवाइड - उन लोगों के बीच का अंतर जिनके पास ऑनलाइन जानकारी है और जिनके पास यह जानकारी नहीं है - सभी समाजों में बढ़ जाएगा
  • आभासी वास्तविकता, संवर्धित वास्तविकता और व्यक्तिगत सहायक नए उपकरण भुगतान और मालिकाना सामग्री और प्लेटफार्मों के निर्माण में वृद्धि कर सकते हैं। यदि ऐसा होता है, तो उपयोगकर्ता सामग्री निर्माताओं के बजाय निष्क्रिय उपभोक्ताओं की भूमिका पर वापस लौट सकते हैं, जिससे तटस्थ और नि: शुल्क ज्ञान में कमी आयेगी।
  • पुरालेखपालों, शिक्षकों और इतिहासकारों को कई विभिन्न प्रकार के ज्ञान और सामग्री को बनाए रखने और उस तक पहुँचने में अधिक से अधिक कठिनाई आ सकती है

संदर्भ

  1. a b "Global Mobile Trends". GSMA Intelligence, October 2016. Accessed June 27, 2017.
  2. "Global Mobile Trends," slide 8
  3. NOTE: The numbered list 1-4 was drawn from two reports: Mary Meeker, "Internet Trends Report 2017". Kleiner Perkins. May 31, 2017. Accessed June 27, 2017. Amy Webb, “2017 Tech Trends Annual Report”. Future Today Institute, 2017. Accessed June 27, 2017.
तीसरा सप्ताह (विस्तार या संक्षिप्त करने के लिए क्लिक करें)
 

तीसरे सप्ताह की चुनौती: जैसा कि विकीमीडिया 2030 की ओर देखता है, हम गलत सूचना के बढ़ते स्तर की रोक-थाम कैसे कर सकते हैं?

विकीमीडिया 2030 की रणनीति प्रक्रिया के भाग के रूप में, विकिमीडिया फाउंडेशन स्वतंत्र अनुसंधान सलाहकारों के साथ काम कर रही है ताकि प्रमुख रुझानों को समझा जा सके जो मुक्त ज्ञान के भविष्य को प्रभावित करेंगे और इस सूचना को आंदोलन के साथ साझा किया जा सके। यह दो रिपोर्टें निम्नलिखित दो कंपनियों द्वारा तैयार की गई हैं: डॉट कनेक्टर स्टूडियो, फिलाडेल्फिया आधारित मीडिया अनुसंधान और रणनीति फर्म, जो सामाजिक प्रभाव के लिए उभरते हुए प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करने पर ध्यान केंद्रित करती है, और लुटमैन एंड एसोसिएट्स, जो कि सेंट पॉल आधारित रणनीति, योजना और मूल्यांकन फर्म है, जो संस्कृति, मीडिया, और परोपकार के आपसी संबंधों के साथ संबंधित है।

मुख्य अंतर्दृष्टि

गलत सूचनाओं में रुझान बढ़ रहे हैं और यह विकीमिडियनों की ज्ञान के विश्वसनीय स्रोत खोजने की क्षमता को चुनौती दे सकते हैं।

शोधकर्ताओं ने अपने पेपर Considering 2030: Misinformation, verification, and propaganda,[3 1] में गलत सूचना से संबंधित प्रवृत्तियों को दो श्रेणियों में वर्गीकृत किया है: सामग्री के स्रोत, और सामग्री तक कैसे पहुँचा जात है। प्रत्येक के लिए, उन्होंने प्रभाव के तीन वैश्विक स्रोत पर ध्यान दिया: प्रौद्योगिकी, सरकार और राजनीति, और वाणिज्य।

विशेष रूप से, शोधकर्ताओं ने निम्नलिखित रुझानों की पहचान की है और यह कि हमारे भविष्य को कैसे प्रभावित करते हैं:

  • सामग्री बाहरी स्रोतों द्वारा कैसे विकसित की जाती है इसको प्रौद्योगिकी बदल देगी, क्योंकि कृत्रिम बुद्धि का इस्तेमाल ज्ञान निर्माण और विश्लेषण को गति देने के लिए किया जाता है। हालांकि यह संदर्भ ढूंढना और गुणवत्ता के संपादन करने को आसान बना सकता है, लेकिन यह अधिक पक्षपातपूर्ण स्रोत या भ्रामक सामग्री भी बना सकता है। यह भी एक बड़ा मुद्दा बन सकता है जब कृत्रिम बुद्धि डाटा को इकठ्ठा करके सामग्री बनाते समय गलत सूचना को "तथ्य" के रूप में उपयोग करना शुरू करेगी।[3 2] यह स्रोतों को सत्यापित करने और उच्च गुणवत्ता वाले सामग्री को बनाए रखने की विकीमिडियनों की क्षमता को चुनौती दे सकता है।
  • प्रौद्योगिकी की अधिक व्यक्तिगत इंटरफेस (मोबाइल डिवाइस, पहनने योग्य डिवाइस, वॉयस-आधारित आभासी सहायकों) में बदलाव की संभावना है और वर्तमान प्लेटफॉर्म के साथ विकिमीडिया सामग्री तक पहुँच बढ़ाना अधिक मुश्किल होगा।
  • अभिव्यक्ति की वैश्विक स्वतंत्रता को आक्रामक रूप से चुनौती दी जा रही है।[3 3] [3 4] [3 5] [3 6] [3 7] [3 8] कुछ कंपनियाँ, सरकारें, और राजनेता अपने फायदे के लिए उद्देश्यपूर्ण रूप से गलत या भ्रामक जानकारी फैलाते हैं। यह केवल पाठ तक सीमित नहीं है, क्योंकि तकनीक ने अन्य मीडिया (ऑडियो, वीडियो, चित्र) के साथ हेरफेर करना आसान बना दिया है। इससे समग्र ज्ञान नेटवर्क कमजोर हो जाता है और विकीमीडिया के लिए यह कठिन बन जाता है यह तटस्थ रहे और इस पर निष्पक्ष दस्तावेजों के हवाले दिए जाएँ।
  • विकीमीडिया सामग्री को सेंसर करने की प्रवृत्ति कम हो रही है, लेकिन कुछ सरकारें (जैसे चीन या तुर्की) व्यापक रूप से सेंसर करना जारी रहती हैं। "HTTPS" तकनीक से व्यक्तिगत पृष्ठों को ब्लॉक करना अधिक कठिन बना दिया है। इससे अल्पावधि में मदद मिली है, लेकिन नए एंटी सेंसरशिप उपकरणों और तरीकों को विकसित करने की आवश्यकता होगी।
  • ट्विटर और फेसबुक जैसी सोशल मीडिया कंपनिययाँ बड़ी हो गई हैं और निजी नेटवर्क के माध्यम से गलत सूचना फैलाने के लिए चैनल बन गई हैं, जबकि इसी समय में परंपरागत आधुनिक संस्थानों में विश्वास में कमी आई है। इस बात को सुनिश्चित करने के लिए नवाचार आवश्यक होगा कि गलत सूचना की तथ्य-जाँच की जाए ताकि तटस्थ, सटीक जानकारी वितरित की जाए।
  • चूंकि वाणिज्यिक कंपनियां बंद ऐप्स, उत्पाद और प्लेटफ़ॉर्म विकसित करती जा रही हैं, इसलिए विकीमीडिया सामग्री को कम वरीयता प्राप्त हो सकती है और यह सामग्री कम सुलभ हो सकती है (ध्यान दें कि भविष्य में इस विषय को और विकसित किया जाएगा।)

गलत सूचना पर शोध इन मुद्दों के संभावित समाधानों का सुझाव देता है। जैसा आप अनुसंधान के बारे में सोचते हैं, कृपया चर्चा करें कि आपका इसके बारे में क्या सोचना हैं कि हम एक आंदोलन के रूप में विश्वसनीय, निशुल्क, और तटस्थ ज्ञान की दुनिया की खोज में मदद कैसे कर सकते हैं।

संदर्भ

  1. Considering 2030: Misinformation, verification, and propaganda
  2. Bilton, Nick. "Fake news is about to get even scarier than you ever dreamed". Vanity Fair. January 26, 2017. Accessed May 30, 2017.
  3. Reporters Without Borders. "2017 World Press Freedom Index – tipping point?" April 26, 2017. Updated May 15, 2017. Accessed May 28, 2017.
  4. Nordland, Rod. "Turkey's Free Press Withers as Erdogan Jails 120 Journalists." The New York Times. November 17, 2016. Accessed June 7, 2017.
  5. Reporters Without Borders. "Journalism weakened by democracy's erosion". Accessed May 29, 2017.
  6. Paul, Christopher and Miriam Matthews. The Russian "Firehose of Falsehood" Propaganda Model: Why It Might Work and Options to Counter It. Santa Monica: RAND Corporation, 2016.
  7. Broderick, Ryan. "Trump Supporters Online Are Pretending To Be French To Manipulate France's Election". BuzzFeed News. January 24, 2017. Accessed June 7, 2017.
  8. Tufekci, Zeynep. "Dear France: You Just Got Hacked. Don't Make The Same Mistakes We Did". BuzzFeed. May 5, 2017. Accessed June 7, 2017.
दूसरा सप्ताह (विस्तार या संक्षिप्त करने के लिए क्लिक करें)
 

दुसरे सप्ताह की चुनौती: हम सभी ज्ञान का योग कैसे प्राप्त कर सकते हैं जब इसमें से बहुत अधिक ज्ञान को हम परंपरागत तरीके से सत्यापित नहीं कर सकते हैं?

मुख्य अंतर्दृष्टियाँ

दुनिया के अधिकांश ज्ञान का अभी तक हमारी साइटों पर प्रलेखन नहीं किया गया है और स्रोतों को एकीकृत करने और सत्यापित करने के नए तरीकों की आवश्यकता है।

हमारी "विश्वसनीय सूत्रों" की वर्तमान परिभाषा पश्चिमी संस्कृति में निहित प्रथाओं पर आधारित है, जहाँ ज्ञान और इतिहास सदियों से लिखित रूप में दर्ज किया जा रहा है। यह पूर्वाग्रह, दुनिया के कुछ हिस्सों में आसानी से उपलब्ध स्रोतों के पक्ष में है और इस तरह से यह "सभी ज्ञान के योग" की दृष्टि से दूरी पर है।

उदाहरण के लिए, कई अफ्रीकी संस्कृतियों के बारे में विश्वसनीय माध्यमिक स्रोत ढूंढना बहुत मुश्किल है, या तो क्योंकि यह ज्ञान पारंपरिक रूप से मौखिक रूप से साझा किया गया है या इस फिर इस लिए क्योंकि यह लिखित दस्तावेज उपनिवेशवादी पूर्वाग्रहों के परिप्रेक्ष्य से बनाए गए थे।[2 1] कुछ संगठन इस तरह के मौखिक ज्ञान के विभिन्न रूपों के दस्तावेजीकरण पर ध्यान देते हैं और यदि हमारे पास उन्हें आसानी से एकीकृत करने का तरीका मिल जाए तो उनके कामों को हमारी साइट पर स्रोत के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है।[2 2][2 3]

विकीमीडियनों के रूप में, हम पारंपरिक चैनलों से आने वाले विश्वसनीय स्रोतों की पहचान करने में विशेषज्ञ बन गए हैं, जैसे पीयर रिव्यू पत्रिकायें और मुख्यधारा प्रेस। पिछले हफ्ते की रणनीति चुनौती ने उल्लेख किया था कि पाठक इस तरह के "सम्मानित" संगठनों पर विश्वास नहीं कर रहे हैं, और इसके बजाय वह उन व्यक्तियों से मिले स्रोतों का अधिक उपयोग कर रहे हैं जिन पर वह विश्वास करते हैं।[2 4] यह प्रवृत्ति विकीमिडियनों के लिए ऐसी सोर्सिंग विधियों की कल्पना करना का अवसर हो सकती है जो सांस्कृतिक रूप से कम प्रतिबंधात्मक हैं और जो पाठकों की उभरती अपेक्षाओं को भी बेहतर ढंग से पूरी करती हैं।

विश्वव्यापी जानकारी की खोज और साझाकरण ने ऐतिहासिक रूप से विकसित किया है।


संदर्भ

  1. Uzo Iweala, Nigerian author and movement strategy advisor, interviewed by Zack McCune, 14 June 2017
  2. The People’s Archive of Rural India documents the occupational, linguistic, and anthropological diversity of India, in a storytelling way with images, text, and video. Adam Hochschild, Co-Founder, Mother Jones, interviewed by Katherine Maher, 16 June 2017
  3. LEAP Africa captures the memories of historical leaders that are mostly oral traditions, who have little evidence in the documented histories written by colonists. 58 expert summaries (June 2017), line 10
  4. Indonesia research findings draft May 2017
पहला सप्ताह (विस्तार या संक्षिप्त करने के लिए क्लिक करें)
 

पहले सप्ताह की चुनौती: हमारे समुदाय और सामग्री बदलती दुनिया में कैसे प्रासंगिक रहेंगे?

मुख्य अंतर्दृष्टियाँ

पश्चिमी ज्ञानकोश मॉडल उन सभी लोगों, जो सीखना चाहते हैं, की बदल रही आवश्यकताओं की पूर्ति नहीं कर रहा है।

नृवंशविज्ञान अनुसंधान और विशेषज्ञ साक्षात्कारों के अनुसार, वर्तमान और भविष्य के पाठक सीखने के लिए ऐसा मंच चाहते हैं जो कि विकिपीडिया के वर्तमान विश्वकोषीय प्रारूप और इसके पश्चिमी केंद्रित मानदंडों से परे हो।[1] विशेषज्ञों का कहना था कि औपचारिक शिक्षा प्रणाली कई स्थानों पर अच्छी तरह से काम नहीं कर रही है, खासकर उभरते हुए देशों में। लोग संसाधन या अवसंरचना से संबंधित चुनौतियों का सामना करने के लिए सीखने के नए तरीकों की तलाश कर रहे हैं।[2] विकिपीडिया और इसकी बहन परियोजनाएं वर्तमान में समृद्ध ज्ञान ढूंढने के लिए वेब गंतव्य हैं, लेकिन कई पाठकों को विशिष्ट प्रश्नों के उत्तर पाने में अधिक रुचि है। [3] ऑनलाइन ज्ञान ढूँढने वाले कई लोग सामग्री के साथ आकर्षक और नए कौशल प्राप्त करने के लिए लघु, स्वसंपूर्ण, और/या दृश्य तरीके तलाश रहे हैं।[3] विकिपीडिया के लंबे प्रारूप, गहन, पाठ-केंद्रित विश्वकोष लेख का वर्तमान मॉडल इन परिवर्तनों की जरूरतों को पूरा नहीं कर सकता है। यह अभी तक शैक्षिक ज्ञान के अन्य रूपों के लिए एक स्थान प्रदान नहीं करता है।[4]

दुनिया भर में ज्ञान साझा करना बेहद सामाजिक हो गया है।

जागरूकता और उपयोग के अध्ययन से नृवंशविज्ञान अनुसंधान और परिणामों से पता चल रहा कि स्मार्टफोन द्वारा सक्षम युवा लोग, नए तरीकों से जानकारी प्राप्त और साझी करते हैं। यह लोगों का सबसे नया समूह है जिस तक पहुँचना है।[5] वह सोशल मीडिया और मैसेंजर टूल का बहुत अधिक इस्तेमाल करते हैं, और वह पहले से उपयोग किए गए प्लेटफॉर्म के माध्यम से जानकारी साझी और चर्चा करना पसंद करते हैं।[6] विशेषज्ञों का कहना है कि नए रुझान उभर रहे हैं। उदाहरण के लिए, कई युवा लोग, एक बड़े समूह के माध्यम से, मैसेजिंग ऐप के जरिए अपने दोस्तों और दोस्त मंडल से जानकारी मांगते हैं, जैसे कोई सचमुच की वास्तविक चर्चा हो।[6] अविश्वास और संदेह इतना व्यापक हो रहे हैं कि "विश्वसनीय स्त्रोत" को अक्सर खारिज किया जाता है: युवा लोग अपने नेटवर्क के उन लोगों में भरोसा करते हैं जिनके न्याय और बौद्धिक ईमानदारी का वह सम्मान करते हैं न कि परंपरागत "सम्माननीय" संस्थान।[3] इन परिवर्तनों से विकिपीडिया की प्रासंगिकता बहुत सारे दर्शकों के लिए खतरा हो सकता है जो कार्य हमने परंपरागत रूप से किया है।

कहानियों के रूप में मुख्य अंतर्दृष्टियाँ

क्योंकि अलग-अलग दिमाग विभिन्न तरीकों से काम करते हैं, कुछ लोग इन निजी कहानियों के संदर्भ में इन चुनौतियों के बारे में सोचना पसंद कर सकते हैं (ध्यान दें कि यह अनुसंधान निष्कर्षों पर आधारित काल्पनिक पात्र हैं)।

माइकल और अनीसा से मिलें, दो किशोर जो अलग अलग महाद्वीपों और जीवन शैली से संबंधित हैं (विस्तार या संक्षिप्त करने के लिए क्लिक करें)
माइकल वॉशिंगटन, डीसी, संयुक्त राज्य अमेरिका में एक किशोर लड़का है। वह और उसके सभी दोस्तों के पास स्मार्टफोन हैं, और वह इनकी मदद से जुड़े रहते हैं, दिलचस्प सामग्री साझी करते हैं और स्कूल के लिए जानकारी ढूंढते हैं। जबकि माइकल और उसके सभी मित्र विकिपीडिया के बारे में जानते हैं, पर उनके माता-पिता की तुलना में उनकी विकिपीडिया का उपयोग करने की संभावनाएं काफी कम हैं। (सप्ताह में 46% बनाम 72% या अधिक बार पढ़ते हैं)[7] जब वह इसका उपयोग करते हैं, तो वह किसी विशिष्ट विषय के बारे में पढ़ने (41%) या उन्हें अध्ययन करने में मदद लेते है (23%)। यूट्यूब उसकी शीर्ष 3 वेबसाइटों में है। उन्हें ऐसे समय के बारे में नहीं पता है जब सोशल मीडिया न हो, और वह और उसके दोस्त हमेशा अपने स्मार्टफोन के माध्यम से ऑनलाइन होते हैं।[8] "फेसबुक बूढ़े लोगों के लिए है" और स्नैपचाट दोस्तों के साथ सामग्री को साझा करने के लिए माइकल का पसंदीदा तरीका है। उसे डेस्कटॉप कंप्यूटर से लेकर सिरी के फोन पर या अपने घर के कमरे में अमेज़ॅन इको जैसे विभिन्न उपकरणों से जानकारी मिलती है। अपने माता-पिता की तरह, माइकल मानता है कि सामग्री उपयोगी है, सामग्री की उच्च गुणवत्ता या मुक्त और तटस्थ होना उसके लिए कोई ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं है।[7]

अनीसा एक १५ साल की लड़की है जो बांडुंग, इंडोनेशिया में रहती है। उसके परिवार को अमीर माना जाता है, और वह भाग्यशाली है कि उसके पास एक स्मार्टफोन है (वह देश की संपूर्ण आबादी के 21% में से एक है[9])। उसके परिवार के पास एक डेस्कटॉप कंप्यूटर नहीं है, इसलिए वह अपने फोन का उपयोग करके स्कूल के लिए जानकारी की खोज करती है। हालांकि, वह अपने दोस्तों के साथ जुड़ने के लिए और अपनी स्थानीय भाषा में जानकारी साझी करने के लिए अधिकतर WhatsApp का उपयोग करती है। उसका परिवार और दोस्त आपस में जुड़े हुए हैं और आपस में बहुत सामाजिक हैं, इसलिए उसका फोन इसका एक विस्तार है। वह उन मित्रों और लोगों से मिलने वाली जानकारी पर भरोसा करती है जिनके साथ उसका संबंध है। कभी-कभी वह अंग्रेज़ी में खोज परिणामों का उपयोग करती है जहाँ विकिपीडिया से सामग्री दिखाई जाती है, लेकिन उसे नहीं पता कि यह जानकारी विकिपीडिया से है। वह और उसके दोस्तों की जानकारी के टुकड़े साझे करते हैं जो उनके मोबाइल फोन पर फिट होते हैं और उन्हें सटीक जानकारी देते हैं जो उन्हें चाहिए। वह नई चीजों की खोज के लिए इंटरनेट को ब्राऊज़ नहीं करती है।

संदर्भ