Strategy/Wikimedia movement/2018-20/Working Groups/Advocacy/Recommendations/Nutshell/hi

From Meta, a Wikimedia project coordination wiki
Jump to navigation Jump to search

Other languages:
Deutsch • ‎English • ‎español • ‎français • ‎português do Brasil • ‎українська • ‎العربية • ‎हिन्दी • ‎中文

पारदर्शिता

समुदाय वचनबद्धता के नियमों के संबंध में निर्णय लेता है -> जानकारी सुलभ और सुव्यवस्थित है -> परिचर्चा और लोगों की वैधता बढ़ती है -> समर्थक कुशल और आश्वस्त हैं

अनुशंसा

विकिमीडिया समर्थकों का एक वैश्विक नेटवर्क संलग्नता के सामुदायिक संचालित नियमों पर बनाया गया है। उन लोगों के लिए प्रवेश द्वार स्थापित हैं जो शामिल होना चाहते हैं या पक्षपोषण से संबंधित कार्यों को शुरू करना चाहते हैं। निर्णय लेने की प्रक्रियाएँ पहले से ज्ञात और आसानी से समझ में आने वाली हैं।

पक्षपोषण में शामिल निर्णयों और लोगों की वैधता को बढ़ाने के लिए, आंदोलन के सभी हिस्सों को यह जानना होगा कि वे पक्षपोषण के स्थानीय और वैश्विक स्तरों पर परिचर्चा और निर्णयों लेने की प्रक्रिया में कहाँ और कैसे भाग ले सकते हैं।

यहाँ नियंत्रण और संतुलन की एक प्रणाली है जिसमें यह भी शामिल है कि विकिमीडिया समर्थकों की भूमिका कैसे परिभाषित की जाती है और इसे कैसे दिया या लिया जा सकता है। अभियानों में दिखाई देने वाले और मीडिया के लिए स्वीकार्य समर्थकों को आंदोलन और संबंधित समुदायों में प्रख्यात होना चाहिए। सक्रिय समर्थकों को आंदोलन का समर्थन प्राप्त हो, यह सुनिश्चित करने के लिए एक प्रक्रिया है।

वह प्रणाली जो दिखती है उसका निर्माण संबंधित समुदायों और समर्थकों के सहयोग से हमारे समुदायों द्वारा किया गया है।

तर्काधार

आज आंदोलन के बारे में व्यापक समझ का आभाव है कि समर्थकों को कैसे संरचित और संगठित किया जा सकता है और विभिन्न संदर्भों और परिस्थितियों के कारण इसके अलग-अलग मॉडल हैं। जब भी समुदाय के सदस्य पक्षपोषण करना शुरू करते हैं तो जमीनी स्तर और स्व-निर्धारित स्तर पर पक्षपोषण दिखाई देती है तथा विकिमीडिया फाउंडेशन या अन्य संबद्ध संगठन शामिल होने पर अधिक औपचारिक प्रक्रियाएँ अपनाई जाती हैं।

योगदान करने वाला समुदाय हमेशा सक्रिय समर्थकों द्वारा अपना प्रतिनिधित्व किया हुआ महसूस नहीं करता है। और बाद वाले के लिए कोई स्थापित प्रतिक्रिया प्रणाली नहीं है।

कभी-कभी पक्षपोषण के निर्णयों में समय के प्रति अधिक संवेदनशील निर्णय लेने की आवश्यकता होती है जो समुदाय को सूचित रखने और प्रक्रिया में उनकी भागीदारी को सक्षम बनाने की आवश्यकता को ध्यान में रखता है। विशेष रूप से ऐसे निर्णय जिनकी प्रतिध्वनि विकिपीडिया परियोजनाओं के ब्लैकआउट्स के समान सार्वजनिक रूप से अनुगुंजित होती है, उनके लिए एक अच्छे संगठन, भूमिकाओं की एक ज्ञात संरचना और एक स्थिर समुदाय के सहयोग की आवश्यकता होती है ताकि वे प्रामाणिक और अर्थपूर्ण बन सके।

विविधता

आंदोलन लचीला और अनुकूलनीय है -> लोगों ने सुना गया और विधिमान्य महसूस किया -> कार्यकर्ताओं की बेहतर अवधारण प्राप्त हुई -> आंदोलन विविधतापूर्ण -> विविधपूर्ण प्रभाव

अनुशंसा

समुदाय सक्रिय रूप से एक अच्छा वातावरण और अनुकूलित मार्ग उपलब्ध कराता है जो स्थानीय और वैश्विक स्तर पर विकिमीडिया के समर्थन में शामिल होने के लिए विविध और अलग-अलग भाषाओं और सांस्कृतिक पृष्ठभूमि से अधिक से अधिक लोगों (पेशेवरों और स्वयंसेवकों) को आकर्षित करता है।

इस आंदोलन में योगदान देने और समर्थन को एक-दिशावर्ती और पश्चिमी तर्क अनुभव के हावी होने देने को कम करने के तरीके खोजने की जरूरत है। इस दिशा में पहला कदम आंदोलन के भीतर सहायक, सकारात्मक और लचीले स्थान, मॉडल और उपकरणों का निर्माण करना है। अगर हम देखते हैं कि वे विशिष्ट समुदाय की जरूरतों को पूरा नहीं करते हैं तो ये स्थान उत्तरदायी और अनुकूलनीय हैं। वे लोगों को अपनी बात सुने जाने और सम्मानित होने का अहसास कराते हैं। यह दृष्टिकोण और नए विचारों तथा विविध अनुभवों के लिए हमारा आंदोलन कितना अनुकूल है, इससे जुड़ा हुआ प्रश्न है।

एक अतिरिक्त दृष्टिकोण यह है कि सामुदायिक सूचना के प्रवाह को सुव्यवस्थित करने के लिए प्रासंगिक मुद्दों के प्रति अधिक ग्रहणशील होना चाहिए जिसका सामना हमारे लोग, समूह और संगठन करते हैं। सुव्यवस्थित करने का मतलब अपने परिचालन की परिस्थिति को बदलने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली भाषा और प्रसंगों को शामिल करते हुए अंतरराष्ट्रीय समुदाय के हर स्तर पर संपर्क पर वैसा ध्यान देना है। अधिक ग्रहणशील होने का मतलब सक्रिय रूप से सूचना मांगना और उन स्थानों पर काम करने वाले लोगों के बारे में पर्याप्त प्रतिक्रियाएं प्राप्त करना और उनका मार्गदर्शन करना हैं। अंत में, इन सहयोगों को प्रदर्शित करना और उदाहरण देते हुए दूसरों को प्रोत्साहित करने के लिए काम करना है।

तर्काधार

आज तक किए गए कई प्रयासों के बावजूद, हमारा समुदाय अभी भी अपनी परियोजनाओं में मानव विविधता और ज्ञान के पर्याप्त प्रतिनिधित्व के साथ संघर्ष कर रहा है। उसी समय, मात्र सक्षम बनाना, माहौल का निर्माण करना पर्याप्त नहीं है, यदि प्रमुख संस्कृतियां और प्रक्रियाएं पुराने तरीकों का समर्थन करती हैं और नई समस्याओं तथा आत्मनिर्णय को अभिव्यक्त करने के रूपों को समायोजित करने के संबंध में कठोर हैं। इसके परिणामस्वरूप, कम/गैर-प्रतिनिधित्व वाले समुदायों को यह नहीं महसूस होता है कि हमारा समुदाय उनके हितों का समर्थन करने के लिए तैयार है और वे अपने ज्ञान को साझा नहीं करते हैं।

इसके साथ ही, पक्षपोषण एक बहुत ही पश्चिमी अवधारणा है और इसमें एक संयुक्त समझ का अभाव है, यहाँ तक कि जब हम देखते हैं कि यह आंदोलन के सिद्धांतों में निहित है। दुनिया के एक हिस्से में जिस कार्य को करना आसान है वही कार्य दुनिया के अन्य हिस्सों में लोगों के लिए जोखिम और हानिकारक हो सकता है जबकि उन समर्थकों और उनकी कहानियाँ संपूर्ण आंदोलन में कहीं दिखाई भी नहीं देती है।

वैश्विक परिचर्चा

आंदोलन विचारों और अनुभवों का आदान-प्रदान कर रहा है -> परिचर्चा में संलग्न होने के लिए स्थान और नियम हैं -> परिणामों तक पहुंच आसान और सुगम है

अनुशंसा

पक्षपोषण के बारे में केंद्रीय परिचर्चा आयोजित करने के लिए सामुदायिक समर्थकों के लिए एक स्थापित संचार प्रक्रिया है

हमारी सिफारिश एक विशिष्ट पारदर्शी प्रक्रिया का निर्माण करके इन मुद्दों का समाधान करती है जो निम्न पर आधारित है

  • सहयोग कहाँ से तलाशना चाहिए और इसकी क्या प्रक्रिया है, इससे संबंधित सूचनाओं के आसानी से उपलब्ध होने पर
  • अपेक्षाओं का प्रबंधन (हम किस प्रकार का समर्थन प्रदान करने में सक्षम हैं और गैर-मानक समाधान का निर्माण करने के लिए मार्ग)
  • समयबद्ध अभिस्वीकृति और प्रतिक्रिया।

फोरम छोटे-छोटे विषयों के धागों से मिलकर बनता है और समर्थकों के समुदाय द्वारा उन लोगों की सहायता से तैयार किया जाता है जो इसे सुविधाजनक बनाने और बनाए रखने के लिए साथ-साथ काम करते हैं।

तर्काधार

पक्षपोषण बहुत कम संसाधनों के साथ की जा सकती है, लेकिन कभी-कभी ऐसा समय भी होता हैं जब समुदाय के सदस्यों को अभियान चलाने या कानून बनाने वालों से बात करने के लिए समर्थन की आवश्यकता हो सकती है। नकारात्मक परिणामों में शामिल हैं: विशेषज्ञता और अनुभव साझा नहीं किया जाना और समुदाय के सदस्यों को यह समझ में नहीं आना कि वे नीति और समर्थन के मुद्दों पर कहां और कब खड़े हो सकते हैं।

ज्ञान प्रबंधन

ज्ञान पर अधिकार किया जाता और बनाए रखा जाता है -> पहुंच बढ़ जाती है -> समुदाय के पास सक्रिय इनपुट है -> सीखना और विचार विनिमय आंदोलन को अधिक लचीला बनाता है और बेहतर रूप से तैयार करता है

अनुशंसा

सभी समर्थकों के लिए विधियों, मामलों, सफलता की कहानियों और विफलताओं के बारे में ज्ञान का निरंतर प्रबंधन किया जाता है ताकि वे उस तक पहुँच सके, उससे सीख सके और खुद उसे संसाधित और अनुरक्षित रख सके

इस पहलू में रिपॉजिटरी के केंद्रीकरण की आवश्यकता है ताकि यह हर किसी के लिए वास्तव में यह जाने बिना सुलभ हो कि उन्हें एक विशिष्ट क्षेत्र या डोसियर खोजने की जरूरत है; खोजने योग्य होने के लिए इसमें पर्याप्त मेटाडेटा होना चाहिए और सामग्री की सक्रिय रूप से मांग, व्यवस्थित और एक केंद्रीकृत तरीके से प्रदर्शित किया जाना चाहिए। इसके साथ ही समुदाय के सदस्यों को सामग्री जोड़ने और UX संशोधनों का अनुरोध करने में सक्षम होना चाहिए। विशिष्ट आवश्यकताओं और उद्देश्यों के बारे में समुदाय के साथ परिचर्चा के माध्यम से समर्थन, प्रशिक्षण और क्षमता निर्माण से संबंधित सर्वोत्तम विधियों से संबंधित सामग्रियों का निर्माण, नियोजन और संयोजन किया जाना चाहिए।

तर्काधार

पक्षपोषण के प्रयासों को संचालित करने वाले वैश्विक आंदोलन के लिए सामग्री के ज्ञान का प्रबंधन (भंडारण, वर्गीकरण और उपलब्ध कराना) आवश्यक है। यूरोपीय संघ या अमेरिका में विकसित कई डोजियर और विचारों का अनुकरण विभिन्न क्षेत्रों में किया जाता है। कैसे और किसके द्वारा इसका सामना किया गया था, इसका पता रहना न्यूनतम बुनियादी आवश्यकता है, जिसे दूसरों को इस तरह के भंडार में प्राप्त करने में सक्षम होना चाहिए। चूंकि हमारी परियोजनाओं का सार ज्ञान प्रबंधन है, इसलिए इसका हमारे काम के सभी क्षेत्रों में विस्तार करना चाहिए।

समर्थन केंद्र

आंदोलन विचारों और अनुभवों का आदान-प्रदान कर रहा है -> परिचर्चा में संलग्न होने के लिए स्थान और नियम हैं -> परिणामों तक पहुंच आसान और सुगम है

अनुशंसा

आंदोलन के समर्थन के प्रयासों को वर्तमान और भविष्य के समर्थकों के साथ चलने वाले एक केंद्र द्वारा सुव्यवस्थित और मजबूत किया जाता है

एक केंद्रीय, गैर-पक्षपातपूर्ण लेकिन आपस में जुड़े हुए आंदोलन समर्थन केंद्र का निर्माण करना आवश्यक है, जो केवल विकिमीडिया फाउंडेशन (WMF) में बैठे नहीं रहे या विशेष रूप से उनका ही उत्तर नहीं दें, बल्कि आंदोलन और समुदाय के समर्थकों के बीच सहयोग पर आधारित हों।

तर्काधार

दुनिया में जगह-जगह समुदाय की जरूरतें अलग-अलग हैं। हालांकि, इस मुद्दों के इस विकेन्द्रीकृत जाल का समर्थन करने और सुलझाने के लिए, एक ऐसा स्थान होना जरूरी है जो एक प्रेषण के रूप में कार्य कर सके। इसकी भूमिका उन मुद्दों का निरीक्षण करना है जिनमें विभिन्न समुदाय उलझे हुए है, लोगों को साझा समस्याओं से जुड़ने का सुझाव देना, समुदाय के ऐसे लोगों की पहचान करना जो दूसरों की मदद कर सकते हैं और अनुरोध करने पर समर्थन का समन्वय कर सकते हैं। इसकी भूमिका स्थानीय समर्थकों की गतिविधियों को बदलना या उनका समन्वय करना नहीं है, बल्कि संसाधनों, ज्ञान, प्रशिक्षण, नेटवर्किंग और विभिन्न अवसरों (और भविष्य के खतरों) की पहचान के साथ उन्हें बढ़ाना और उनका समर्थन करना है, जो स्थानीय स्तर पर स्पष्ट नहीं हो सकते हैं।

सामान्य स्थिति

अनुशंसा'

विकिमीडिया आंदोलन के समर्थन की प्राथमिकताओं को स्पष्ट रूप से एक साझा, उच्च दृश्यमान और जीवंत दस्तावेज के माध्यम से स्पष्ट किया गया है।

एक आशय पत्र या घोषणा पत्र की अवधारणाओं से प्रेरित एक जीवंत दस्तावेज यह घोषित कर सकता है कि आंदोलन अपने मूल के बारे में क्या सोचता है और यह किसका प्रतिनिधित्व करता है (और यह किसका प्रतिनिधित्व नहीं करता है)। यह स्पष्ट रूप से परिभाषित कर सकता है और इसके बारे में सीमाएं निर्धारित करता कि हम क्या करते हैं, क्यों करते हैं और हम ऐसा करके क्या हासिल करना चाहते हैं। इस तरह का एक दस्तावेज सामूहिक इरादे से पश्चिमी केंद्रित परिभाषाओं को भी स्थानांतरित कर सकता है। यह उन लोगों, संगठनों और संस्थाओं को यह देखने का अवसर और अनुमति देता है जो वर्तमान समय में, या खुले आंदोलन के बारे में जागरूक नहीं हैं, कि उनके लक्ष्य हमारे साथ संरेखित हैं या नहीं।

दूसरी ओर यह हमें स्पष्ट रूप से और आसानी से उन कारणों के लिए खड़े होने की अनुमति देता है, जिन पर हम विश्वास करते हैं और कार्रवाई करते हैं। यह आंदोलन के भीतर लोगों को सामूहिक उद्देश्य देता है, और उन्हें अनुमति देता है और उन्हें अपने उद्देश्यों को स्पष्ट करने की वैधता प्रदान करता है।

तर्काधार

विकिमीडिया आंदोलन में अनेक अलग-अलग संस्कृतियों के कई अलग-अलग लोगों के लिए अनेक चीजें हैं, लेकिन हम - विश्व स्तर पर और स्थानीय रूप से - आंदोलन द्वारा प्रतिनिधित्व किए जाने वाले एक या अनेक पहलुओं के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। हालांकि, ये अन्तर्निहित तत्व जो हमें आंदोलन में खींचते हैं, वर्तमान में प्रत्यक्ष के बजाय निहित हैं। यह उन स्थितियों की ओर ले जाता है जहां समुदाय सहयोगात्मक गतिविधियों के बारे में लंबी और थकाऊ चर्चा करते है, यह तर्क देते हुए कि यह उनके समुदाय के दायरे में है या नहीं। साथ ही, यह सवाल बार-बार उठता है कि क्या हमारे आंदोलन को पक्षपोषण में भाग लेना चाहिए।